समान अवसर मिले तो महिलाएं किसी भी क्षेत्र में सार्थक योगदान देने में सक्षम: देवप्रीत सिंह

चंडीगढ़, 5 मार्च । सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के अंतर्गत पत्र सूचना कार्यालय एवं रीजनल आउटरीच ब्यूरो के चंडीगढ़ स्थित कार्यालयों द्वारा अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस को समर्पित महिला सशक्तिकरण पर आज यहाँ एक वेबिनार का आयोजन किया गया । वेबिनार में विभिन्न क्षेत्रों की महिला विशेषज्ञों ने महिलाओं की सुरक्षा तथा समानता पर व्याख्यान दिये । वेबिनार में चंडीगढ़, पंजाब, हरियाणा एवं हिमाचल प्रदेश की 100 से अधिक छात्राओं, महिला प्रतिनिधियों व अन्य प्रतिभागियों ने भाग लिया ।
अपने स्वागत संबोधन में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय की अपर महानिदेशक (क्षेत्रीय), श्रीमती देवप्रीत सिंह ने कहा कि यदि महिलाओं को समान अवसर दिये जाएँ तो वे किसी भी क्षेत्र में सार्थक भूमिका निभाने में सक्षम है । उन्होंने कहा कि आज के दौर में लड़कियों को शिक्षित करने के साथ साथ लड़कों को भी परिवार से ही शिक्षित करने तथा महिलाओं के सम्मान के प्रति सचेत किए जाने की आवश्यकता है ।
इस अवसर पर संबोधित करते हुए पंजाब पुलिस कि अपर महानिदेशक (कल्याण), श्रीमती वी0 नीरजा ने कहा कि महिलाओं के प्रति हिंसा केवल समाज पर ही नहीं बल्कि देश कि आर्थिकता को भी प्रभावित करती है। उन्होंने कहा कि महिलाओं की सुरक्षा के लिए अनेकों कानून बनाए गए है परंतु जागरूकता के अभाव एवं कलंक के डर से उनका उचित लाभ महिलाएं नहीं उठा पाती । उन्होंने कानून लागू करने वाली एजेंसियों को अधिक संवेदनशीलता से प्रयास करने पर बल दिया ।
चंडीगढ़ समाज कल्याण विभाग की जेंडर स्पेशलिस्ट सुश्री प्रभजोत ने जीवन के विभिन्न पड़ावों में महिलाओं के साथ किए जा रहे लिंग भेद के बारे में बताया । उन्होंने महिलाओं को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक करने पर बल दिया ताकि वो भयमुक्त हो कर जी सके । उन्होंने कहा कि महिलाओं के प्रति अपराधों के बारे में रिपोर्ट करना हम सबकी ज़िम्मेदारी है ।
हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले की सशक्त महिला पूनम नेगी ने ड्राइविंग के क्षेत्र में अपने अनुभवों और उपलब्धियों को सांझा किया । उन्होंने बताया कि वो उत्तर भारत की ऐसी पहली महिला है जिनके पास 9 तरह के (लाइट व हेवी) वाहन चलाने के लाइसेन्स प्राप्त है । उन्होंने वेबिनार में उपस्थित छात्राओं व युवतियों को प्रेरित करते हुए कहा कि महिलाएं किसी भी क्षेत्र में पुरुषों से कम नहीं है।
इस अवसर पर मीडिया में महिलाओं के समक्ष चुनौतियों विषय पर संबोधित करते हुए बिग एफ़एम की क्षेत्रीय प्रमुख (पंजाब, हरियाणा व हिमाचल प्रदेश ) सुश्री सुलक्षणा ब्रामटा ने कहा मीडिया में कार्यरत महिलाओं को अन्य क्षेत्रों की वर्किंग महिलाओं की अपेक्षा अधिक चुनौतियों का सामना करना पड़ता है । उन्होंने प्रतिभागियों को कहा कि समाज में महिला पुरुष लिंग भेद के कारण ही अलग है परंतु दिमागी तौर पर दोनों समान रूप से सक्षम हैं । जरूरत है तो केवल महिलाओं के प्रति नजरिया बदलने की ।
वेबिनार में चंडीगढ़ रीजनल आउटरीच ब्यूरो के उपनिदेशक श्री अनुज चांडक ने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर महिलाओं को बधाई दी । श्री राजेश बाली, फील्ड पब्लिसिटी अधिकारी, जालंधर ने वेबिनार में उपस्थित प्रतिभागियों का आभार व्यक्त किया । वेबिनार का संचालन चंडीगढ़ रीजनल आउटरीच ब्यूरो की सहायक निदेशक सुश्री सपना ने किया ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.