डॉ. वेरका द्वारा मौजूदा बिजली खरीद समझौतों की दरों में कटौती सम्बन्धी संभावनाओं की तलाश

Spread the love

चंडीगढ़, 7 दिसम्बर। नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्री डा. राज कुमार वेरका ने राज्य में सोलर और बायोमास पावर प्रोजैक्ट डिवैलपरों के साथ आपसी समझौते के द्वारा मौजूदा बिजली खरीद समझौतों की दरों में कटौती की संभावनाओं का पता लगाया है।
आज पंजाब भवन में सोलर और बायोमास पावर प्रोजैक्ट डिवैलपरों के साथ मीटिंग के दौरान उन्होंने कहा कि कि ब्याज दरों और कॉर्पाेरेट टैक्स को घटाया जा चुका है, इसलिए प्रोजैक्ट डिवैलपरों को टैरिफ घटाने के तरीके ढूँढने की तरफ ध्यान देना चाहिए, यह सरकार और पी.एस.पी.सी.एल. के लिए लाभकारी होगा जिससे पंजाब के आम लोगों को सस्ती बिजली मिल सकेगी।
डा वेरका ने कहा कि वह दोस्ताना और मज़बूत संबंधों की आशा करते हैं और डिवैलपरों को राज्य में और निवेश करने के लिए आगे आना चाहिए। उन्होंने कहा कि डिवैलपरों को अपने सुझाव और पेश समस्याएँ (यदि हों) भी सामने लानी चाहिऐ हैं और विभाग उनके सुझावों को जाँचने के बाद सुखद हल ढूँढने के लिए तरीके और साधन जुटाने के लिए एक कमेटी बनाऐगा। डा वेरका ने कहा कि इस मंतव्य के लिए गठित एक सब -कमेटी की तरफ से अलग-अलग सोलर और बायोमास पावर प्रोजैक्ट डिवैलपरों के साथ आगे मीटिंग की जायेगी और केवल ऐसे उचित हल ही अमल में लाए जाएंगे जो सरकार और प्राईवेट डिवैलपर /निवेशक दोनों को मंज़ूर हों। उन्होंने सभी कंपनियों को पंजाब में अपने सी.एस.आर. ख़र्च करने के लिए भी कहा।
इस मीटिंग में वेलसपन पावर, अजुर पावर, इकौ एनर्जी, इंटरनेशनल अर्थ सोलर प्राईवेट लिमटिड, अलिआनज इकौ पावर लिमटिड आदि सोलर कंपनियों के कई प्रोजैक्ट डिवैलपर उपस्थित रहे। बायोमास पावर प्रोजैक्ट डिवैलपरों ने बताया कि वह सभी पंजाब में पावर प्रोजेक्टों में धान की पराली और बायोमास का प्रयोग कर रहे हैं और मिलकर 10 लाख टन धान की पराली की संभाल /प्रयोग किया जा रहा है। स्टोरों में बारिश और मौसम ख़राबी जैसी समस्याओं के कारण धान की पराली और बायोमास के स्टोरों में काफ़ी नुक्सान होता है। बायोमास पावर प्लांट राज्य के ग्रामीण क्षेत्र में बहुत सी नौकरियां प्रदान कर रहे हैं और वातावरण के लिए भी लाभकारी हैं।
मीटिंग में पी.एस.पी.सी.एल.दे मुख्य मैनेजिंग डायरैक्टर वेनू प्रसाद, नवजोत पाल सिंह रंधावा, सी.ई.ओ. पेडा, एम.पी.सिंह, डायरैक्टर, पेडा, दविन्दर सिंह, ज्वाइंट डायरैक्टर, पेडा, आर.के. गुप्ता, ज्वाइंट डायरैक्टर, पेडा, सुपिन्दर सिंह ज्वाइंट डायरैक्टर पी.एस.पी.सी.एल. मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *