जीवन संरक्षण के प्रति जागरूक करने हेतु फोर्टिस मोहाली ने आयोजित की वॉकाथॉन

मोहाली, 27 नवंबर। राष्ट्रीय अंगदान दिवस के अवसर पर फोर्टिस अस्पताल, मोहाली में अंगदान के महत्व के बारे में जागरूकता फैलाने तथा जीवन संरक्षण के लिए संभावित दाताओं को जागरूक करने के लिए एक वॉकाथॉन का आयोजन किया गया।
विकास वशिष्ठ, एक किडनी-प्रत्यारोपण रोगी, जो फोर्टिस अस्पताल, मोहाली में जुड़वां प्रत्यारोपण के प्राप्तकर्ता हैं, तथा रोगी के डॉ प्रियदर्शी रंजन, जो कि फोर्टिस अस्पताल में यूरोलॉजी, रोबोटिक्स और किडनी ट्रांसप्लांट सर्जरी के डायरेक्टर हैं, ने वॉकथॉन को झंडी दिखाकर रवाना किया। इस दौरान उनके साथ जोनल हेड अभिजीत सिंह और चीफ ऑफ नर्सिंग, माधवी चिखले, ट्रांसप्लांट टीम और नर्सिंग विभाग के लगभग 50 सदस्यों के साथ मौजूद थे, जिन्होंने इस दिन का समर्थन करने के लिए हरे रंग की रिबन पहने हुए थे।
अंगदान के महत्व पर जोर देते हुए, डॉ रंजन ने कहा, कि एक दानी हृदय, फेफड़े, लीवर, गुर्दे, अग्न्याशय और छोटी आंत को दान करके 8 से अधिक व्यक्तियों को बचा सकता है और उसे समृद्ध कर सकता है और प्रत्यारोपण प्राप्तकर्ता के जीवन को पूरी तरह से बदल सकता है।
अंगदान पर जागरूकता कैसे बदलाव लाने में मदद कर सकती है, इस पर चर्चा करते हुए, डॉ रंजन ने कहा कि अंगों की गंभीर कमी है और दान किए गए अंगों की संख्या और प्रत्यारोपण की प्रतीक्षा करने वाले लोगों की संख्या के बीच का अंतर लगातार बढ़ रहा है। लोगों को जागरूक करने की जरूरत है कि अंगदान कैसे कई प्राप्तकर्ताओं को बेहतर गुणवत्तापूर्ण जीवन प्रदान कर सकता है। भारत में, धार्मिक मान्यताओं और एक सहायक प्रणाली की कमी के कारण अंग दान की दर निराशाजनक है।
इस बीच, ट्रांसप्लांट टीम के सदस्यों ने अंगदान के महत्व पर प्रकाश डालते हुए लघु नाटिका प्रस्तुत की। एक प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया जिसके बाद एक अभिनंदन समारोह का आयोजन किया गया जिसमें ट्रांसप्लांट टीम के सदस्यों को रोगी देखभाल में उनके योगदान के लिए सराहा गया। कार्यक्रम का समापन फोर्टिस मोहाली की क्लिनिकल नर्स और विशेषज्ञ प्रभारी, प्रत्यारोपण इकाई, अमरवीर कौर ने आभार से किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.