राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित ने इंडिया स्किल्स 2021 उत्तरी क्षेत्रीय प्रतियोगिता का किया शुभारम्भ

राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित ने इंडिया स्किल्स 2021 उत्तरी क्षेत्रीय प्रतियोगिता का किया शुभारम्भ
Spread the love

पंचकुला, 15 नवंबर। राष्ट्रीय कौशल विकास निगम द्वारा आयोजित, इंडिया स्किल्स 2021 क्षेत्रीय प्रतियोगिता- उत्तर, आज इंद्रधनुष सभागार, पंचकुला, हरियाणा में एक उद्घाटन समारोह के साथ शुरू हुई। प्रतियोगिता आठ राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों- चंडीगढ़, दिल्ली, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, जम्मू और कश्मीर, पंजाब, उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश के 450 से अधिक प्रतिभागियों के प्रदर्शन की साक्षी बनेगी। इंडियास्किल्स देश की सबसे बड़ी कौशल प्रतियोगिता है जो उत्कृष्टता के लिए प्रयास करती है, कुशल और प्रतिभाशाली युवाओं की खोज करती है, और उन्हें एक वैश्विक मंच के लिए तराशती है।
आज इस कार्यक्रम का उद्घाटन पंजाब के महामहिम राज्यपाल और केंद्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ के प्रशासक श्री बनवारीलाल पुरोहित द्वारा किया गया। इस अवसर पर श्री दिलीप कुमार, (आईएएस, प्रमुख सचिव रोजगार सृजन, कौशल विकास और औद्योगिक प्रशिक्षण, पंजाब), श्री सरप्रीत सिंह गिल, (आईएएस, सचिव तकनीकी शिक्षा, चंडीगढ़), प्रकाश शर्मा, (निदेशक, वर्ल्डस्किल्स इंडिया), और जयकांत सिंह, (सीनियर हेड, वर्ल्ड स्किल्स इंडिया) की भी उपस्थिति रही।
19 से 24 वर्ष की आयु के युवा प्रतिभागी, ऑटोबॉडी रिपेयर, ब्यूटी थेरेपी, पेंटिंग और डेकोरेटिंग, वेल्डिंग, मोबाइल रोबोटिक्स, पेटिसरी और कन्फेक्शनरी, स्वास्थ्य और सामाजिक देखभाल, प्लंबिंग और हीटिंग, वॉल और फ्लोर टाइलिंग, कंक्रीट निर्माण कार्य, साइबर सुरक्षा, कारपेन्टरी और अन्य सहित 45 से अधिक कौशल में प्रतिस्पर्धा करेंगे। कौशल प्रतियोगिताएं चंडीगढ़ (12), हिमाचल प्रदेश (1) और उत्तर प्रदेश (1) में 14 सहयोगी संस्थानों (पीआई) में आयोजित की जाएंगी – कृपया अनुबंध 1 देखें।
प्रतियोगिताएं 16-17 नवंबर को आयोजित की जाएंगी, जिसके बाद 18 नवंबर को समापन समारोह में प्रत्येक कौशल में दो विजेताओं (एक स्वर्ण और एक रजत) को सम्मानित किया जाएगा।
इंडिया स्किल्स को देश में कौशल के उच्चतम मानक को प्रदर्शित करने और युवाओं के लिए व्यावसायिक प्रशिक्षण को आकांक्षी बनाने के लिए डिज़ाइन किया गया है। इंडिया स्किल्स 2021 उत्तर के विजेता अन्य क्षेत्रीय प्रतियोगिताओं- पूर्व (पटना), पश्चिम (गांधीनगर) और दक्षिण (विशाखापत्तनम) के स्वर्ण और रजत पदक विजेताओं के साथ प्रतिस्पर्धा करेंगे। इसके बाद दिसंबर 2021 में बैंगलोर (कर्नाटक) में एक राष्ट्रीय प्रतियोगिता आयोजित की जाएगी। इन प्रतियोगिताओं के अंतिम प्रतिभागियों को 2022 में वर्ल्डस्किल्स शंघाई, चीन में भारत का प्रतिनिधित्व करने से पहले लगभग नौ महीने के कठिन प्रशिक्षण से गुजरना होगा।
माननीय श्री बनवारीलाल पुरोहित ने कहा, “इंडिया स्किल्स केवल एक प्रतियोगिता नहीं है, यह एक अनूठा प्लेटफार्म है जो हमें देश के दूर-दराज के हिस्सों से युवा प्रतिभाओं को खोजने की अनुमति देता है, कौशल को आकांक्षी बनाता है और युवाओं को सशक्त बनाता है। यह प्रतियोगिता भारत की क्षमताओं को दुनिया के सामने प्रदर्शित करने में सक्षम बनाती है और उभरती प्रौद्योगिकियों और प्रगति को सीखने-समझने की सुविधा प्रदान करती है। यह द्विवार्षिक कार्यक्रम युवाओं, सरकारों, उद्योग निकायों, समुदायों, संस्थानों और शिक्षकों को एक प्रतिस्पर्धी प्लेटफार्म देकर आज की युवा प्रतिभाओं को कल की चुनौतियों के लिए तैयार करने में मदद करने के लिए एक साथ लाता है।
दिलीप कुमार ने कहा कि मुझे विश्वास है कि इंडिया स्किल्स प्रतियोगिता कई अन्य युवाओं को कौशल के लिए जुनून विकसित करने, उत्कृष्टता प्राप्त करने और विश्व स्तर पर भारत का प्रतिनिधित्व करने का अवसर तलाशने के लिए प्रेरित करेगी। कौशल प्रशिक्षण को वैश्विक प्रशिक्षण मानकों के साथ जोड़कर युवा उम्मीदवारों का समर्थन करने में हमारे उद्योग भागीदारों और प्रशिक्षकों द्वारा प्रदर्शित समर्पण का स्तर कौशल विकास के बेंचमार्क को बढ़ाएगा। इस तरह की प्रतियोगिताएँ सरकारों, उद्योग और शिक्षाविदों के बीच सहयोग की सुविधा भी प्रदान करती हैं।
सरप्रीत सिंह गिल ने कहा कि इंडियास्किल्स 2021 में सात न्यू-एज़ स्किल्स की शुरूआत होना उत्साहजनक है क्योंकि यह दर्शाता है कि प्रतिस्पर्धा विशेष रूप से कोविड -19 महामारी के बीच और बाद में लगातार बदलती तकनीकों और जॉब मार्केट के अनुकूल है। भारत में एक युवा कार्यबल है और हमें इसे पर्याप्त अवसर प्रदान करने के लिए अपने स्किलिंग, रीस्किलिंग और अपस्किलिंग के प्रयासों को आगे बढ़ाना चाहिए जिससे इसे रोजगार योग्य बनाया जा सके और भारतीय अर्थव्यवस्था को मजबूत करने में महत्वपूर्ण योगदान मिल सके।
प्रकाश शर्मा जी ने कहा कि राष्ट्रीय कौशल विकास निगम अपने ‘स्किल इंडिया’ मिशन को कुशल और सक्रिय बनाने की दिशा में भारत सरकार की कई पहलों का दायित्व निभा रही है। इंडियास्किल्स प्रतियोगिता एक ऐसी पहल है जो न केवल कुशल और प्रतिभाशाली युवाओं की पहचान करती है बल्कि एक मंच पर सर्वश्रेष्ठ लाकर और उन्हें अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपने साथियों का सामना करने के लिए ढालकर देश के स्किल इकोसिस्टम में योगदान देती है। क्षेत्रीय और राष्ट्रीय प्रतियोगिताएं वर्ल्डस्किल्स शंघाई 2022 में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाले सर्वश्रेष्ठ प्रतिभागियों को खोजने में मदद करेंगी। मैं सभी प्रतिभागियों को शुभकामनाएं देता हूं।
अगस्त-सितंबर 2021 में जिला/क्लस्टर और राज्य स्तर पर आयोजित प्रतियोगिताओं के माध्यम से क्षेत्रीय प्रतियोगितओँ के लिए प्रतिभागियों का चयन किया गया है, जिसमें 250,000 से अधिक पंजीकरण दर्ज किए गए हैं। इस वर्ष, इंडियास्किल्स क्षेत्रीय प्रतियोगिताएं चार क्षेत्रों के 30 राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के 1,500 प्रतिभागियों को एक साथ लाएंगी। पटना और गांधीनगर ने इंडियास्किल्स रीजनल के पूर्वी और पश्चिमी प्रतियोगिता को सफलतापूर्वक पूरा किया। चंडीगढ़ इंडियास्किल्स क्षेत्रीय प्रतियोगिता – उत्तर की मेजबानी के लिए तैयार है, और इसके बाद विशाखापत्तनम (दक्षिण) में क्षेत्रीय प्रतियोगिता आयोजित होगी। क्षेत्रीय प्रतियोगिताओं के बाद, इंडियास्किल्स राष्ट्रीय प्रतियोगिता दिसंबर 2021 में बेंगलुरु, कर्नाटक में आयोजित की जाएगी। इंडियास्किल्स राष्ट्रीय प्रतियोगिता के विजेता अक्टूबर 2022 में वर्ल्डस्किल्स शंघाई में भारत का प्रतिनिधित्व करने के लिए प्रशिक्षण से गुजरेंगे।
इन प्रतियोगिताओं के दौरान, प्रतिभागियों को बूट कैंप और प्रोजेक्ट-आधारित प्रशिक्षण, उद्योग और कॉर्पोरेट प्रशिक्षण, उद्योगों के लिए एक्सपोज़र विज़िट, माइंड कोचिंग और व्यक्तित्व विकास जैसे कार्यक्रमों के माध्यम से बहु-स्तरीय उद्योग प्रशिक्षण मिलता है। एनएसडीसी, अपने क्षेत्र कौशल परिषदों (एसएससी) और सहयोगी संस्थानों के माध्यम से, उम्मीदवारों को प्रतियोगिताओं के लिए और भविष्य के प्रयासों के लिए भी प्रशिक्षित करता है।
एनएसडीसी विश्व कौशल प्रतियोगिताओं में भारत की भागीदारी का नेतृत्व कर रहा है। वर्ल्डस्किल्स, कौशल उत्कृष्टता के लिए स्वर्ण मानक, एक द्विवार्षिक कार्यक्रम है जिसमें 80 से अधिक देशों की भागीदारी दर्ज है। दुनिया भर के कुशल और प्रतिभाशाली युवा कई ट्रेडों में अंतरराष्ट्रीय मंच पर प्रतिस्पर्धा करते हैं। 2019 में रूस के कज़ान में आयोजित वर्ल्डस्किल्स के पिछले संस्करण में, भारत वैश्विक आयोजन में भाग लेने वाले 63 देशों में से 13 वें स्थान पर था। इसमें 1,350 से अधिक उम्मीदवारों ने 56 कौशल में भाग लिया, और टीम इंडिया ने चार पदक-एक स्वर्ण, एक रजत, दो कांस्य पदक के साथ-साथ 15 उत्कृष्टता पदक जीतकर अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *