रख रखाव के अभाव में मवेशियों की चरगाह बनी इंडस्ट्री एरिया फेज 2 की ग्रीन बेल्ट: सुनील यादव

चंडीगढ़, 27 अप्रैल। इंडस्ट्रियल एरिया फेज 2 की ग्रीन बेल्ट में सैर करने वाले और साथ लगती सड़क पर चलने वाले राहगीर लंबे समय से आवारा मवेशियों की धमाचौकड़ी से परेशान हैं।
इस मौके पर युवा नेता सुनील यादव ने बताया कि यहां लगभग हर सड़क और ग्रीन बेल्ट पर आवारा मवेशियों का आतंक है। मुख्य रोड से लेकर बस स्टैंड, रामदरबार और सब्जी मंडी ग्राउंड, सरकारी स्कूल के सामने इन आवारा मवेशियों का जमावड़ा सर्वाधिक देखने को मिलता है। सड़कों पर घूम रहे आवारा पशुओं से आए दिन दुर्घटना होने से लोग परेशान हैं।
मवेशी आए दिन आपस में भिड़ जाते हैं जिससे सड़क से निकलने वाले वाहन चालक भी घायल हो रहे हैं लेकिन स्थानीय नगर निगम का इस ओर बिलकुल भी ध्यान नहीं है। ओर तमाम दावे करने वाला नगर निगम अभी तक पशुओं के आतंक से निजात नहीं दिला पा रही है। आमजन की मानें तो कई बार नगर निगम को शिकायत करने के बाद भी ध्यान नहीं दिया जा रहा है।
मवेशियों का सबसे ज्यादा जमावड़ा सड़कों पर होता है। यहां पर लगभग पूरी सड़क पर मवेशी दिन भर खड़े रहते हैं तो कई मवेशी बीच सड़क पर ही बैठे रहते है। वाहन चालक हार्न भी बजाता है तब भी वे टस से मस नहीं होते। वाहन चालकों को नीचे उतरकर उन्हें सड़क किनारे करना पड़ता है, तभी वह आगे बढ़ते हैं। दिन हो या फिर रात यह मवेशी राहगीरों के लिए सबसे ज्यादा मुसीबत बने हुए हैं लेकिन नगर निगम द्वारा इस ओर कोई ध्यान न दिए जाने से आम जन और राहगीरों को इसका खामियाजा भुगतना पड़ता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.