खरीद सीजन दौरान राज्य की मंडियों में अब तक 6000 से अधिक लोगों ने कोविड से बचाव का टीका लगवाया

चंडीगढ़, 18 अप्रैल। राज्य की मंडियों में गेहूँ की चल रही खरीद के दौरान कोविड-19 के सुरक्षा उपायों को यकीनी बनाने के लिए उचित प्रबंध करने के अलावा राज्य सरकार ने किसानों, आढ़तियों, मज़दूरों और अन्य सभी पक्षों के टीकाकरण के लिए अनाज मंडियों में विशेष कैंप भी शुरू किये हैं जिनमें अब तक 6000 से अधिक योग्य व्यक्तियों को कोविड से बचाव के टीके लगाए गए हैं।
पंजाब सरकार ने राज्य की अनाज मंडियों में कोविड वैक्सीन के विशेष कैंप लगाए हैं जिससे खरीद सीजन दौरान मंडियों में आने वाले 45 साल से अधिक आयु वर्ग के किसानों, आढ़तियों, मज़दूरों और अन्य पक्षों को वैक्सीन की ख़ुराक दी जा सके।
आज यहाँ यह खुलासा करते हुए पंजाब मंडी बोर्ड के चेयरमैन लाल सिंह ने बताया कि अब तक 6000 योग्य व्यक्तियों को वैक्सीन दी जा चुकी है जिनमें मंडियों में उपज बेचने के लिए आने वाले किसानों, आढ़तियों, मज़दूरों और अन्य सम्बन्धित व्यक्ति शामिल हैं। उन्होंने आगे बताया कि अनाज मंडियों में स्थापित कैंपों के द्वारा टीकाकरण के लिए पटियाला ज़िला सबसे आगे चल रहा है जहाँ अब तक 1230 योग्य व्यक्तियों को कोविड से बचाव के लिए ख़ुराक दी जा चुकी है। इसके बाद फ़िरोज़पुर और बठिंडा जिले हैं जहाँ अब तक क्रमवार 1179 और 800 व्यक्तियों को मंडियों में कैंपों के द्वारा वैक्सीन दी जा चुकी है।
चेयरमैन ने आगे बताया कि किसानों, आढ़तियों, मज़दूरों और खरीद एजेंसियों के स्टाफ को टीकाकरण के लिए प्रेरित करने के लिए ज़िला स्तर पर मंडी बोर्ड के अधिकारी और कर्मचारी अधिक से अधिक योग्य व्यक्तियों को इस टीकाकरण मुहिम अधीन लाने के लिए इन विशेष कैंपों का दौरा कर रहे हैं जिससे रबी के मौजूदा मंडीकरण सीजन दौरान गेहूँ की निर्विघ्न खरीद को यकीनी बनाने के साथ-साथ सभी पक्षां की सेहत को भी सुरक्षित बनाया जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *