सन्त निरंकारी मण्डल चंडीगढ़ के सिलाई कढ़ाई केन्द्र में उत्तीर्ण 7 छात्राओं को प्रदान किए गए सर्टिफिकेट

चंडीगढ़, 28 मार्च। संत निरंकारी मिशन एक आध्यात्मिक विचारधारा है जो मनुष्य को ब्रहमज्ञान प्रदान करके उसकी आत्मा को परमात्मा से जोड़ती है जिससे परस्पर भाईचारे की भावना उत्पन्न होती है। संत निरंकारी मिशन आध्यात्मिक जागरूकता के साथ साथ समाज कल्याण में भी अपना महत्वपूर्ण योगदान दे रहा है और जिसके लिए वह सदैव ही प्रशंसा का पात्र भी रहा है। निरंकारी बाबा जी के संदेश, ‘प्रत्येक मानव दूसरे मानव के काम आये’ को वर्तमान में सत्गुरू माता सुदीक्षा जी महाराज अमली रुप दे रहे है। निरंकारी मिशन द्वारा सदैव ही जनकल्याण हेतु अनेक कार्य किये गये है जिनमें मुख्यतः महिला सशक्तिकरण के लिए दी गयी सेवा है।
इन्हीं सेवाओं के अंतर्गत सन्त निरंकारी सत्संग भवन सेक्टर 30-ए चण्डीगढ में निरंकारी सत्गुरू माता सुदीक्षा जी महाराज की पावन कृपा से संत निरंकारी चैरिटेबल फाऊंडेशन द्वारा चलाए जा रहे निशुल्क सिलाई कढ़ाई केन्द्र जहां स्थानीय संयोजक नवनीत पाठक की देख-रेख में कार्य किया जा रहा है वहां पर कोर्स पूरा हो जाने के उपरांत संत निरंकारी मण्डल, दिल्ली के समाज कल्याण विभाग द्वारा इनकी परीक्षा ली जाती है एवं उत्तीर्ण छात्राओं को सर्टिफिकेट प्रदान किये जाते हैं। गत वर्ष जनवरी 2021 से दिसंबर 2021 में जिन 7 छात्राओ ने परीक्षा उत्तीर्ण की और सर्टिफिकेट प्राप्त किये।
इस केन्द्र से प्रशिक्षित महिलायें घर बैठे ही बड़ी आसानी से आजीविका कमाती हैं तथा केन्द्र उन्हें जीवन में आगे बढ़ने और आत्म निर्भर बनाने में सहायता प्रदान कर रहा है। इसके लिए मिशन द्वारा सिलाई-कढ़ाई में निशुल्क प्रशिक्षण दिया जाता है। इस प्रशिक्षण केन्द्र में सिखलाई के लिए मिशन की ही मशीने प्रयोग की जाती हैै तथा उनको योग्य तथा प्रशिक्षित अध्यापिका श्रीमति कैलाश देवी द्वारा ही प्रशिक्षण दिया जाता है।
इसके अतिरिक्त समाज कल्याण के लिए मिशन द्वारा अनेक सेवाएं निभाई जाती है जैसे प्राकृतिक आपदाओं से पीड़ित लोगों की सहायता करना, उन्हें पुर्नवास करना, स्वेच्छा से रक्तदान में भरपूर योगदान देना, स्वच्छता अभियान, स्वास्थ्य तथा आंखों के शिविर, शिक्षा संबंधी संस्थायें, ज़रुरतमंदों की सहायता करना आदि मिशन के अन्य सामाजिक कल्याणकारी कार्यक्रम हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.