राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने चित्र प्रदर्शनी का किया आयोजन

शिमला, 12 मार्च । आजादी के 75 वर्ष के उपलक्ष्य में आयोजित ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ आज से पूरे देश में शुरू हो गया है। मोहत्सव की शुरुआत शुक्रवार को प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने साबरमती से की । इस महोत्सव के तहत आज से शिमला के रीज मैदान पर आजादी के संग्राम की कहानी को दर्शाती फोटो प्रदर्शनी का आयोजन किया जा रहा है।
रीजनल आउटरीच ब्यूरो, चंडीगढ़, सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार और भाषा एवं संस्कृति विभाग, हिमाचल प्रदेश द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित फोटो प्रदर्शनी का उद्धघाटन हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल महामहीम बंढारू दत्तात्रेय ने रिब्बन काट कर किया। इस मौके पर उनके साथ हिमाचल प्रदेश सरकार के शहरी विकास मंत्री एवं संसदीय कार्य मंत्री सुरेश भारद्वाज भी मौजूद रहे।
केंद्र और हिमाचल सरकार द्वारा आयोजित इस प्रदर्शनी में भारत के स्वतंत्रता संग्राम से जुड़े सेनानियों की दुर्भल तस्वीरें व उनसे जुड़ी अन्य वस्तुओं को प्रदर्शित किया जा रहा है। प्रदर्शनी में डांडी मार्च, नमक आंदोलन, सरदार वल्लभ भाई पटेल, सुभाष चंद्र बोस, लाल-बाल -पाल जैसे स्वाधीनता सेनानियों की तस्वीरें दर्शकों के लिए सजाई गई हैं। इसके अलावा महात्मा गांधी, सुभाष चंद्र बोस व सरदार वल्लभ भाई पटेल से जुड़े अभिलेखीय भाषणों को प्रदर्शित किया जा रहा है। भाषा एवं संस्कृति विभाग, हिमाचल प्रदेश द्वारा आयोजित प्रदर्शनी में हिमाचल के स्वतत्रंता सेनानियों के चित्र प्रदर्शित किए जा रहे हैं।
राज्यपाल महामहीम बंढारू दत्तात्रेय ने फोटो प्रदर्शनी में अभिलेखीय महत्व की स्वतंत्रता सेनानीयों से जुड़ी तस्वीरें देखीं व जानकारी ली। इस मौके पर उन्होंने संदेश दिया कि देश के युवाओं को आजादी के संग्राम से प्रेरणा लेनी चाहिए ताकि वह देश को प्रगति पथ पर ले जांए और भारत विष्व गुरु बनकर उभरे।
इस मौके पर रीजनल आउटरीच ब्यूरो, चंडीगढ़ के उप निदेशक अनुज चंडक ने राज्यपाल महामहीम बंढारू दत्तात्रेय को गांधी जी की जीवनी पर आधारित किताब भेंट की. फील्ड आउटरीच ब्यूरो, शिमला के क्षेत्रीय प्रदर्शनी अधिकारी अनिल दत्त शर्मा ने शहरी विकास मंत्री एवं संसदीय कार्य मंत्री सुरेश भारद्वाज को गांधी जी पर आधारित किताब भेंट की |
इस मौके पर केंद्र व राज्य सरकार के कई अधिकारी व कर्मचारी मौजूद रहे। प्रदर्षनी 12 मार्च से आगामी 16 मार्च तक जनता के लिए खुली रहेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *