हरियाणा के प्रत्येक जिले में अस्पतालों की निगरानी हेतु दो नोडल अधिकारियों को नियुक्त किया जाएगा: स्वास्थ्य मंत्री

चंडीगढ़, 14 जनवरी। हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि राज्य के प्रत्येक जिले के लिए दो नोडल अधिकारियों को नियुक्त किया जाएगा, जिसमें से एक अधिकारी हर जिले के सरकारी अस्पताल की व्यवस्थाओं की निगरानी करेगा और उसकी रिपोर्ट प्रस्तुत करेगा। इसी प्रकार, दूसरा नोडल अधिकारी संबंधित जिले के निजी अस्पतालों की निगरानी करेगा और वहां पर मौजूद व्यवस्थाओं की जानकारी राज्य सरकार को उपलब्ध कराएगा। इसके अलावा, उन्होंने कहा कि हरियाणा में टेलीमेडिसिन को प्रभावशाली बनाया जाएगा और इसके लिए 1075 पर स्वास्थ्य विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को ड्यूटी पर लगाया जाएगा।
विज आज यहां स्वास्थ्य विभाग तथा चिकित्सा शिक्षा एवं अनुसंधान विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों की एक बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे, जिसमें वर्तमान में कोरोना संक्रमण के हालातों पर भी चर्चा व विचार विमर्श किया गया।
जिनोम सीक्वेंसिंग के लिए 1500 किट का ऑर्डर दिया-विज
विज ने कहा कि जिनोम सीक्वेंसिंग के लिए एचएमसीएल को 1500 किट का ऑर्डर दे दिया गया है और ये किट तीन चरण में राज्य सरकार को मुहैया करवाई जाएंगी। बैठक के दौरान बताया गया कि जिनोम सीक्वेंसिंग की एक किट से 96 सैंपल लिए जा सकते हैं।
स्वास्थ्य सेवाओं से संबंधित इंफ्रास्ट्रक्चर तथा उपकरण के अलावा अन्य सुविधाओं हेतु जल्द ही राज्य में एक सर्वे/ मैपिंग करवाई जाएगी-विज
स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि स्वास्थ्य सेवाओं से संबंधित इंफ्रास्ट्रक्चर तथा उपकरण के अलावा अन्य सुविधाओं हेतु जल्द ही राज्य में एक सर्वे/ मैपिंग करवाई जाएगी और क्षेत्र की  आवश्यकतानुसार  आने वाले समय में इंफ्रास्ट्रक्चर, मेडिकल उपकरण के साथ-साथ मैनपावर को  उन क्षेत्रों में  उपलब्ध  करवाया जाएगा।
होम आइसोलेशन की किट को मुख्यालय स्तर पर तैयार किया जाएगा-विज
इसके अलावा, श्री विज ने कहा कि होम आइसोलेशन की किट को मुख्यालय स्तर पर तैयार किया जाएगा और इन किट को जल्द ही जिलों में भिजवाया जाएगा ताकि होम आइसोलेशन में रहने वाले मरीजों को यह किट समयबद्ध  तरीके से उपलब्ध करवाई जा सके।
15 से 18 साल के बीच के बच्चे जल्द से जल्द अपनी कोविड डोज़ लगवाए- विज
स्वास्थ्य मंत्री ने बैठक के दौरान 15 से 18 साल तक के बच्चों और उनके अभिभावकों  से आग्रह करते हुए कहा कि वह जल्द से जल्द अपनी कोविड डोज़ लगवाए अन्यथा जब स्कूल खुलेंगे तो डोज़ ना लगवाने वाले बच्चे को स्कूल में प्रवेश नहीं दिया जाएगा।
हरियाणा में 3 करोड़ 76 लाख 31188 वैक्सीन लोगों को लगाई-विज
ऐसे ही, श्री विज ने बताया कि वर्तमान में अभी तक हरियाणा में 3 करोड़ 76 लाख 31188 वैक्सीन लोगों को लगाई गई है, जिसमें से 2 करोड़ 18 लाख 80 हजार 724 को पहली डोज़ तथा 1 करोड़ 57 लाख 9328 को दूसरी डोज़ लगाई जा चुकी है। इसी प्रकार, 41136 प्रिकॉशन डोज़ लोगों को लगाई गई है।
हरियाणा में टेलीमेडिसिन को प्रभावशाली बनाया जाएगा- विज
विज ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि होम आइसोलेशन में रहने वाले मरीजों की प्रतिदिन निगरानी की जानी चाहिए और उन्हें टेलीमेडिसिन के माध्यम से जानकारी मुहैया करवाई जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि हरियाणा में टेलीमेडिसिन को प्रभावशाली बनाया जाएगा और इसके लिए 1075 पर स्वास्थ्य विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को ड्यूटी पर लगाया जाएगा ताकि वे रोजाना ईसंजीवनी पर विजिट करके टेलीमेडिसिन को प्रभावशाली रूप दे सके। बैठक के दौरान ने बताया गया कि वर्तमान में हरियाणा में लगभग 30000 मरीज होम आइसोलेशन में  है।
ईसंजीवनी ओपीडी राष्ट्रीय टेली के तहत परामर्श सेवाएं हरियाणा में शुरू की
बैठक में बताया गया कि ईसंजीवनी ओपीडी राष्ट्रीय टेली के तहत एक ऑनलाइन स्टे होम ओपीडी है।  कोई भी व्यक्ति वीडियो कॉल/लाइव चैट के माध्यम से लैपटॉप/डेस्कटॉप या सक्रिय इंटरनेट के साथ एंड्रॉइड आधारित स्मार्टफोन का उपयोग करके डॉक्टर से परामर्श कर सकता है।
बैठक में बताया गया कि हरियाणा 01 मई, 2020 से ईसंजीवनी ओपीडी पर है। वर्तमान में, ई-संजीवनी ओपीडी यानी सामान्य ओपीडी और स्त्री रोग ओपीडी पर 2 ओपीडी कार्य कर रही हैं और  16 अगस्त, 2021 से ई-संजीवनी ओपीडी पर चौबीसों घंटे टेली-परामर्श प्रदान करने के लिए सामान्य ओपीडी चालू है। ईसंजीवनी ओपीडी पर टेली-परामर्श प्रदान करने के लिए कुल 1138 डॉक्टर पंजीकृत हैं और हरियाणा में ई-संजीवनी ओपीडी पर अब तक कुल 62582 परामर्श किए जा चुके हैं।
बैठक में स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव राजीव अरोड़ा, चिकित्सा शिक्षा विभाग की प्रधान सचिव जी अनुपमा, हरियाणा चिकित्सा सेवा निगम के प्रबंध निदेशक साकेत कुमार, एनएचएम के मिशन निदेशक प्रभजोत सिंह, चिकित्सा शिक्षा विभाग के निदेशक डा. शालीन, स्वास्थ्य सेवाएं विभाग की महानिदेशक डॉ. वीना सिंह सहित स्वास्थ्य विभाग के अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *