आई.एस.वाई.एफ. आतंकवादी संगठन का पर्दाफाश करने के तीन दिनों के अंदर ही पंजाब पुलिस द्वारा 2.5 किलो आरडीएक्स बरामद

चंडीगढ़/एस.बी.एस नगर, 13 जनवरी। इंटरनैशनल सिख यूथ फैडरेशन (आई.एस.वाई.एफ.) समूह के समर्थन वाले आतंकवादी संगठन का पर्दाफाश करने की सफलता के बाद पंजाब पुलिस ने आज 2.5 किलो आरडीएक्स, एक डेटोनेटर, कोडैक्स तार, तारों समेत पाँच विस्फोटक फ्यूज, एके 47 असॉल्ट राइफल के 12 जींदा कारतूस बरामद किये हैं।
यह जानकारी देते हुए पंजाब के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) वीके भावरा ने बताया कि यह बरामदगी गुरदासपुर के गाँव लखनपाल के रहने वाले अपराधी अमनदीप कुमार उर्फ मंत्री के इकबालिया बयान पर की गई है, जो कि पठानकोट में हाल ही में घटे ग्रेनेड हमलों की दो घटनाओं का मुख्य मुलजिम है।
ज़िक्रयोग्य है कि, अमनदीप उर्फ मंत्री सोमवार को एसबीएस नगर पुलिस द्वारा गिरफ़्तार किये गए आईएसवाईएफ के छह गुर्गों में से एक था, जिन्होंने पठानकोट आर्मी कैंप समेत पठानकोट में दो ग्रेनेड हमले करने की बात कबूली थी। पुलिस ने इनके कब्ज़े में से छह हैंड ग्रेनेड (86 पी), एक पिस्तौल (9एमएम), एक राइफल (.30 बोर) के साथ-साथ जींदा कारतूस और मैग्ज़ीन भी बरामद किये थे।
एसएसपी एसबीएस नगर कंवरदीप कौर ने बताया कि अमनदीप के खुलासे के बाद, उन्होंने तुरंत गुरदासपुर जिले में टीमें भेजीं और विस्फोटक सामग्री बरामद की, जिसका उपयोग अमनदीप के अनुसार आईईडी बनाने के लिए किया जाना था।
उन्होंने बताया कि यह खेप आई.एस.वाई.एफ (रोडे) के स्व-घोषित चीफ़ लखबीर सिंह रोडे, जो मौजूदा समय में पाकिस्तान में रह रहा है, द्वारा अमनदीप को अपने साथी और इस आतंकवादी गुट के संचालक सुखप्रीत सिंह उर्फ सुख निवासी गाँव खरल, दीनानगर के द्वारा मुहैया करवाई गई थी।
ज़िक्रयोग्य है कि, जून-जुलाई, 2021 के बाद के समय के दौरान लखबीर रोडे ने पंजाब और अन्य देशों में अपने नैटवर्क के द्वारा आतंकवादी मॉड्यूलों की एक लड़ी को चलाने में प्रमुखता के साथ काम किया है। बड़ी संख्या में आतंकवादी हार्डवेयर जिसमें आरडीएक्स, टिफिन आईईडी, आईईडी बनाने के लिए सम्बन्धित विस्फोटक सामग्री, हैंड ग्रेनेड, फायर आर्म्ज़ और नशीले पदार्थ भी शामिल हैं, मुख्य तौर पर ड्रोनों के द्वारा और सरहद पार तस्करों के अपने नैटवर्क की सहायता से अंतरराष्ट्रीय सरहद के पार भेजे गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *