चण्डीगढ़ में भाजपा द्वारा फ़ेक वोटर आईडी बांट का कांग्रेस ने लगाया आरोप

चण्डीगढ़, 23 दिसम्बर। कल आम आदमी पार्टी को जीत दर्शाने वाला एक झूठा चुनाव सर्वेक्षण सामने आया था और आज भारतीय जनता पार्टी का एक कार्यकर्ता सैक्टर 34 में फ़ेक वोटर आईडी बांटता हुआ रंगे हाथों पकड़ा गया। स्थानीय निवासियों ने उस व्यक्ति को धर दबोचा।
चण्डीगढ़ कांग्रेस प्रवक्ता राजीव शर्मा ने इस घटना पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि चण्डीगढ़ नगर निगम चुनावों में अपनी हार निश्चित देख कर ही भाजपा अब जाली मतों से चुनाव जीतने के अन्तिम प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा कार्यकर्ता को जब तक सैक्टर 34 में पकड़ा गया, तब तक वह मतदाताओं को 100 नकली वोटर आईडीज़ बांट चुका था।
‘स्थानीय निवासियों ने जब उससे पूछा तो कैमरे के समक्ष उस भाजपा कार्यकर्ता ने बताया कि उसे अनीता जोशी नामक एक महिला ने यह फ़ेक वोटर आईडीज़ बांटने के लिए दी थीं। अनीता जोशी वास्तव में वार्ड नं. 23 से भाजपा प्रत्याशी नेहा अरोड़ा की कवरिंग उम्मीदवार है। तब स्थानीय निवासियों ने पुलिस नियंत्रण कक्ष को फ़ोन किया कि उन्होंने झूठी वोटर आईडीज़ बांटते हुए एक व्यक्ति को पकड़ा है और यह एक दण्डनीय अपराध है। पुलिस वैन समय पर नहीं आई परन्तु अरुण सूद, पूनम शर्मा एवं डॉ. अविनाश सहित भाजपा नेता वहां पर बहुत से कार्यकर्ताओं के साथ आ गए। उन्होंने स्थानीय निवासियों साथ दुर्व्यवहार किया तथा ग़लत काम का सबूत नष्ट करने हेतु फ़ेक वोटर आईडी को छीनने का भी प्रयास किया।
स्थानीय निवासियों ने उनके ऐसे प्रयासों का विरोध किया क्योंकि भाजपा नेताओं ने वहां पर अपनी मनमर्ज़ियां करने की कोशिश की। कांग्रेस प्रत्याशी रविंदर कौर गुजराल के पति अमरजीत गुजराल वहां पहुंचे। उन्होंने फर्जी वोटिंग इंजीनियर को फर्जी वोटर कार्ड बांटने का अपराध करने के आरोप में भाजपा कार्यकर्ताओं के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई।
गुजराल ने 40 से 50 फर्जी वोटर कार्ड भी पुलिस को सौंपे। लेकिन अब तक न तो पुलिस और न ही चुनाव आयोग ने दोषियों के खिलाफ कोई कार्रवाई की है।
इस बीच, कांग्रेस प्रवक्ता राजीव शर्मा ने इस आशय की शिकायत राज्य चुनाव आयोग से की। अब, यह हमारे संज्ञान में आया है कि भाजपा इस तरह के फर्जी वोटर कार्ड पूरे चंडीगढ़ में बांट रही है। इसका तात्पर्य यह है कि भाजपा ने चुनाव में फर्जी वोट डालकर चुनाव को सही करने की योजना बनाई है।
प्रवक्ता ने कहा कि यह गंभीर चिंता का विषय है कि राज्य चुनाव आयोग बिना वीवीपैट के पुराने एम -2 प्रकार की ईवीएम के साथ एमसी चुनाव करा रहा है और चुनाव में इस्तेमाल की जा रही मतदाता सूची में मतदाताओं की तस्वीरें नहीं हैं। अब भाजपा कार्यकर्ता, फर्जी वोटर कार्ड बांटते हुए, स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव कराने की आशंकाओं में पकड़े गए हैं। चंडीगढ़ कांग्रेस चुनाव आयोग से अपील करती है कि आप और भाजपा दोनों के खिलाफ उचित कार्रवाई करने के लिए गलत तरीके से प्रभावित करने के लिए संदिग्ध साधनों का सहारा ले रहे हैं, अतः उनके विरुद्ध उपयुक्त कार्यवाही की जानी चाहिए और स्वतंत्र व निष्पक्ष चुनाव सुनिश्चित करने के लिए कदम उठाए जाने चाहिएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *