अनुपम जैन फिक्की फ्लो लुधियाना द्वारा शीरोस ऑफ़ दा मंथ अवार्ड से नवाजी गई

चंडीगढ़, 24 नवंबर। इंडियान आर्ट ऑफ सीनेमा के डॉयरेक्टर राहुल बॉस ने अनुपम जैन को फिक्की फ्लो लुधियाना द्वारा शीरोस ऑफ़ दा मंथ अवार्ड से नवाजा है।
जानकारी अनुसार अनुपम जैन शिक्षा के क्षेत्र में एक जाना माना नाम है जो पिछले 30 साल से हज़ारो युवाओं को अपने पैरो पर खड़ा कर चुकी है, इसी के साथ वह एक सामाजिक कार्यकर्ता भी है। हाल ही में उनको फिक्की फ्लो लुधियाना द्वारा उनके सामाजिक विकास एवं युवाओ के लिए किये गए सराहनीय कार्यों के लिए फ्लो शीरोस आफ दा मंथ चुना गया। अनुपम जैन एमएमसी कम्प्यूटर्स एवं स्किल फाउंडेशन की डायरेक्टर है और पिछले 30 बर्षो से कौशल विकास क्षेत्र में अपनी सेवाएं दे रही है।
उनका काम केंद्र सरकार एवं राज्य सरकार द्वारा सराहा गया है। उनको राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग वित्त एवं विकास निगम (सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय भारत सरकार के अंतर्गत) द्वारा आर्थिक रूप से कमज़ोर वर्ग के पिछड़ा बर्ग के युवाओ को निशुल्क आईटी ट्रेनिंग देने के लिए चुना गया। उनको सन 2011 में भास्कर बिजनेस ऑफ दी ईयर अवार्ड से नवाजा गया था। भारतीय प्रतिनिधि के रूप में उन्होंने अन्य कौशल विकास मंत्रालय के प्रतिनिधिओ के साथ यूनेसको हेडक्वाटर पेरिस में स्किल मीट के दौरान शिरकत की जहाँ उनकी उपलब्धियों और सेवाओं को सराहा गया। आईसीईसी 2017 में नारी सशक्तिकरण के लिए उन्हें आईसीबी जीएस 10000 वूमेन एलूमनी एसोसिएशन की प्रेजिडेंट चुनी गई। 2018 में उन्हें चेयरे बलेयर फाउंडेशन फॉर वूमेन (यूके) द्वारा अंतरराष्ट्रीय स्तर पर महिलाओ को बेहतर व्यापार के तरीके सिखाने के लिए चुना गया। उन्हें “टीएलजे” लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार से नवाजा गया। उन्हें चंडीगढ़ की 51 सबसे ज़्यादा प्रभावशाली महिलाओ में चुनकर फिल्म अभिनेत्री हेमा मालिनी द्वारा नारी शक्ति को प्रणाम पुरस्कार से सुसज्जित किया गया। फ़िलहाल जैन सीआईआई-आईडब्ल्यूएन चंडीगढ़, ट्राईसिटी चैप्टर की प्रेजिडेंट है।
अगर हम उनके पुरस्कार और सम्मान के बारे में बात करेंगे तो काम का वर्णन करने के लिए शब्द कम हैं। एक उद्यमी से एक सामाजिक उद्यमी होने के नाते उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा, जैन ने युवाओं और समाज के उत्थान की अपनी यात्रा के दौरान अपने अत्यधिक सराहनीय कार्यों को दिखाकर एक इतिहास रच दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *