पंजाब का हर विद्यार्थी हर साल करेगा साईंस सिटी का दौरा: कोटली

चंडीगढ़/कपूरथला, 24 नवंबर। पंजाब में विज्ञान, प्रौद्यौगिकी, इंजीनियरिंग और गणित की शिक्षा (एस.टी.ई.एम) को और उत्साहित करने और गणित की शिक्षा बच्चों के लिए रोचक बनाने के उद्देश्य के साथ स. गुरकीरत सिंह कोटली माननीय मंत्री विज्ञान और प्रौद्यौगिकी, पंजाब की तरफ से पुष्पा गुजराल साईंस सिटी में ‘‘गणित गैलरी’’ का उद्घाटन किया गया।
इस अवसर पर पत्रकारों को संबोधन करते हुए स. कोटली ने कहा कि यह गैलरी जहाँ विषय को अभियासी और दिलचस्प बनाएगी ,वहीं यह पंजाब के आम लोगों विशेष कर विद्यार्थीयों के लिए बहुत लाभदायक होगी ।
उन्होंने कहा कि साईंस सिटी में विश्व स्तरीय सुविधाएँ है, यहाँ विज्ञान के जटिल सिद्धांतों को बहुत ही आसान तरीके से समझाया जाता है। उन्होंने बताया कि लोगों को अंधकृविश्वास में से निकालने, और समाज में वैज्ञानिक सोच पैदा करने के लिए साईंस सिटी की तरफ से किये जा रहे प्रयासों से वह बहुत प्रभावित हुए है। उन्होंने कहा कि समाज को एक नई दिशा देने के लिए ऐसे प्रयास ज़िला स्तर पर होने चाहिए, हर ज़िले में बच्चों को रस्मी और अभियास शिक्षा के साथ जोड़ने के लिए एक विज्ञान केंद्र होना चाहिए। आज की विजीट के बाद मैं मुख्यमंत्री के साथ बात करूँगा और हम सबसे पहला चण्डीगढ़ के नज़दीक मोहाली में एक विज्ञान केंद्र का नींव पत्थर रख कर शुरुआत करेंगे। उन्होंने कहा कि माननीय मुख्यमंत्री जी के साथ बात करके यह भी यकीनी बनाया जाएगा कि यू.जी.सी की सेध पर ए.आई.सी.टी नीति के अंतर्गत (जो कि माननीय सुप्रीम कोर्ट के दिशा निर्देशों अनुसार बनाई गई है) वतावरण विषय के विद्यार्थियों के लिए साईंस सिटी की हर साल विजीट जरूर की जाएगी।
हर विद्यार्थी को ज्ञानवान बनाने के लिए साईंस सिटी की विजीट को सकैंडरी शिक्षा, उच्च और तकनीकी शिक्षा के कोर्स का भी हिस्सा बनाया जाएगा। इससे विद्यार्थी पंजाब के विकास से अच्छी तरह अवगत होंगे।
उन्होंने कहा पंजाब सरकार की तरफ से मुख्यमंत्री विज्ञान यात्रा और अन्य योजनाओं के अंतर्गत चाहे हर साल विद्यार्थियों को साईंस सिटी की विजीट करवाई जाती है, परन्तु फिर भी विद्यार्थियों की बड़ी संख्या साईंस सिटी का लाभ लेने से वचिंत है। इस सम्बन्धित मुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री के साथ सलाह करके सभी विद्यार्थियों की साईंस सिटी विजीट यकीनी बनाई जाएगी।
इस अवसर पर प्रमुख सचिव, विज्ञान, प्रौद्यौगिकी और वातावरण, पंजाब दलीप कु्रमार आई.ए.एस भी उपस्थित थे। उन्होंने पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुए कहा विश्वीकरण के दौर में देश के लगातार विकास के लिए नए-नए अविष्कार अहम स्रोत है।
आज के आधुनिक युग में खोज और सृजनातमिक सोच से बहुत जटिल और महँगी प्रक्रियाएं को सरल और सस्ता बना लिया गया है।
केवल नएकृनए अविष्कार ही नए क्षेत्र,प्रोजैक्ट प्रौद्यौगिकी और मौके पैदा करते है, जो कि आगे जा कर देश के विकास और उन्नति को यकीनी बनाते है। उन्होंने कहा कि इस प्रका के प्रयत्नों से ही हम अपने राज्य को दुनिया में अग्रणी बना सकते है। उन्होंने कहा कि क्षेत्र चाहे कोई भी हो, जैसे कृषि, स्वास्थ्य सुविधाएं, संचार आदि की तरक्की विज्ञान और प्रौद्यौगिकी पर ही निर्भर है। पुष्पा गुजराल साईंस सिटी न सिर्फ़ पंजाब के ही बल्कि पड़ोसी राज्य के बच्चों और युवाओं को विज्ञान और प्रौद्यौगिकी क्षेत्र में अपना भविष्य बनाने के लिए अग्रसर करने की तरफ काम कर रही है।
इस अवसर पर साईंस सिटी की डायरैक्टर जनरल डॉ. नीलिमा जैरथ ने पुष्पा गुजराल साईंस सिटी में गणित आधारित गैलरी की स्थापना के लिए पंजाब सरकार और केंद्र सरकार की तरफ से निधि जारी किये जाने पर धन्यवाद किया। उन्होंने कहा कि इस गैलरी का उद्देश्य गणित की शिक्षा को अलगकृअलग प्रदर्शनियों से रोचक और दिलचस्प बनाना है। यह सभी प्रदर्शनियाँ बच्चे ख़ुद चला कर देखेंगे। यहाँ गणित की बारीकियों को इतने ज़्यादा रोचक और दिलचस्प तरीकें के साथ समझाया गया है कि एक विद्यार्थी यहाँ आ कर समझ ले तो वह सारा जीवन इसे भूल नहीं सकता। वर्गाकार पहिये वाला साइकिल, युग्म अंक और इशारीया प्रणाली, गणित में सिफ़र की भूमिका, स्थानीक मूल्य, गुणां, पायथागोरस थ्यूरम, तीन पंसारी आकार का आयतन, पानी वाली घड़ी, रोलकोस्टर आदि प्रदर्शनियाँ इस गैलरी के मुख्य आकर्षण है। उन्होंने कहा कि गैलरी विद्यार्थी की गणित प्रति रुचि पैदा करने के साथ इस क्षेत्र में उनका कैरियर बनाने के लिए भी वरदान साबित होगी। उन्होंने कहा इस गैलरी के इलावा साईंस सिटी में इलैक्ट्रीसिटी गैलरी और स्पार्क थियेटर भी जल्द ही बनाऐ जा रहे है। इस अवसर पर उद्योगपति भवदीप सरदाना, ऐडोवेकट हरप्रीत संधू,आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *