नगर निगम चुनावों को लेकर शिवसेना पार्टी ने भावी रणनीति पेश की, 16 सितंबर को नगर निगम का करेंगे घेराव

चंडीगढ़, 14 सितंबर। शिवसेना की ओर से कड़े विरोध की तैयारी, नगर निगम में जब बीजेपी ने सरकार बनाई थी तो बड़े-बड़े वायदे किए थे लेकिन पार्टी अपने वादों पर खरी नहीं उतरी। बिजली और पानी की दरों में बेतहाशा वृद्धि से चंडीगढ़ वासी परेशान हैं व स्मार्ट सिटी के नाम पर गारबेज का बिल पानी के बिल में लगकर आने की वजह से यह परेशानी और ज्यादा बढ़ गई है।
शिव सेना पार्टी के प्रदेशअध्यक्ष परमजीत सिंह राजपूत ने बताया कि शिवसेना की मांग है कि चंडीगढ़ नगर निगम में जब भी वैकेंसी निकलती है तो 85% चंडीगढ़ के युवाओं के लिए रिजर्वेशन होनी चाहिए ताकि चंडीगढ़ के युवा को शहर में ही नौकरी मिल पाए। इसी तरह सफाई कर्मचारियों की तनख्वाह हमेशा तीन-तीन महीने लेट मिलती है ;लायंस कंपनी को जब से सफाई का ठेका मिला है तब से शहर की सफाई व्यवस्था चरमरा गई है आए दिन सफाई कर्मचारियों की हड़ताल की वजह से शहरवासी परेशान होते हैं । लायन्स कंपनी का कॉन्ट्रैक्ट तुरंत प्रभाव से नगर निगम को कैंसिल कर देना चाहिए । कमिश्नर व प्रशासन से ट्रांसजेंडर के लिए कुछ वार्ड रिज़र्व करने की मांग है व मेयर के लिए भी ट्रांसजेंडर के लिए कोटा रिजर्व हो ताकि सभी जेंडर को बराबरी का दर्जा मिल पाए। ट्रांसजेंडर के लिए सभी पब्लिक प्लेस में टॉयलेट की सुविधाएं होनी चाहिए ताकि वह भी अपने को समाज की मुख्यधारा में शामिल समझें और ट्रांसजेंडर के लिए भी योग्यता के आधार पर नौकरियां रिजर्व होनी चाहिए।
इसी तरह रेहड़ी फड़ी वाले वेंडर की फीस करोना कॉल यानी लॉक डाउन से अब तक की फीस माफ कर देनी चाहिए। टाउन वेंडिंग कमेटी के दोबारा इलेक्शन करवाए जाने चाहिए व जिन नए वेंडर्स के लाइसेंस भाजपा के कार्यकाल में बने हैं उन्हें कैंसिल करवा कर पुराने वेंडर को अपनी पुरानी जगह पर बहाल कर देना चाहिए । इसी तरह बीड़ी तंबाकू और सिगरेट वाले वैंडर्स को भी लाइसेंस दिए जाएं या फिर शहर में बीड़ी सिगरेट तंबाकू वाले सभी डिस्ट्रीब्यूटर व फैक्ट्री को बिल्कुल बंद करा दिया जाए । पार्टी ने मांग की कि जूस वालों को भी वंडर्स एक्ट में शामिल किया जाए और उन्हें भी जगह अलाट की जाए ।
इसी तरह सभी रेहड़ी फड़ी वालों को अपनी पुरानी जगह पर फिर से बसाया जाए । गौरतलब है कि वेंडर प्रोटेक्शन एक्ट के तहत, जो कि मनमोहन सरकार के कार्यकाल में बना था उसमें वैंडर्स की फीस 500 रुपये तय हुई थी लेकिन मौजूदा भाजपा सरकार मनमानी फीस वसूल कर वंडर्स को आए दिन परेशान करता है शिवसेना की मांग है कि 500 रुपये की फीस वैंडर्स के लिए दोबारा से फिक्स कर देनी चाहिए व सभी वेंडर के लिए शेड व बाथरूम की व्यवस्था होनी चाहिए। इसी के साथ नगर निगम के रिटायर्ड कर्मचारियों को तुरंत प्रभाव से पेंशन लागू कर दी जाए।
यदि नगर निगम व प्रशासन हमारी मांगों को नहीं मानता है तो कड़े विरोध प्रदर्शन के लिए तैयार रहें व 16 सितंबर को नगर कमिश्नर को घेराव के साथ मांग पत्र दिया जाएगा; यदि मांगे न मानी गई तो गवर्नर का घेराव किया जाएगा या फिर दिल्ली की ओर कूच किया जायेगा।
इस मौके पर मौजूद रहे उपाध्यक्ष प्रदीप गुप्ता, हासिम सिदिकी, महासचिव मोहित शर्मा, संगठन मंत्री मनोज शुक्ला, सचिव अमित लहौरिया, राकेश यादव युवा सेना के अध्यक्ष, संतोष सोनी, रेहड़ी फड़ी संघर्ष कमेटी के संस्थापक मनोज कुमार शुक्ला, रेहड़ी फड़ी संघर्ष कमेटी के प्रधान फैयाज आलम, पप्पू यादव, लालू प्रसाद, शिव सेना वार्ड 33 के प्रधान संजय कुमार, शिव सेना वार्ड 34 के प्रधान रजनीश राजू, राकेश अग्निहोत्री, आकाश सक्सेना, राजीव अग्निहोत्री वार्ड प्रधान मलोया, वार्ड एक कि प्रधान गीता देवी, प्रभारी भूपेंद्र सिंह, सचिव राम शर्मा, सचिव राकेश यादव, मुख्य सचिव बाबी मेहता, अखिलेश सक्सेना, राम वर्मा आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *