बॉडी लैंग्वेज व इंटर पर्सनल स्किल्स विद्यार्थियों के लिए सफलता की सीढ़ी: प्रिंसिपल डॉ हरीश कुमारी

मोहाली 4 सितम्बर। फेस 3ए स्थित खालसा कॉलेज (अमृतसर) टेक्नोलॉजी एंड बिजनेस स्टडीज में टीचर्स डे पर छात्रों के लिए दो दिवसीय सेमिनार का आयोजन कॉलेज की प्रिंसिपल डॉ हरीश कुमारी के नेतृत्व में आयोजित किया गया। सेमिनार बॉडी लैंग्वेज, सॉफ्ट स्किल्स और इंटरपर्सनल स्किल्स विषय पर एक स्टूडेंट नॉलेज शेयरिंग प्रोग्राम और फैकल्टी नॉलेज शेयरिंग प्रोग्राम पर आधारित था जिसका उद्देश्य विद्यार्थियों को प्रभावी शिक्षार्थी बनाना व उनके रोजगार कौशल को बढ़ाने में शिक्षक की भूमिका तथा शिक्षा के आज के परिदृश्य को ध्यान में रखते हुए कक्षा शिक्षण को अधिक व्यावहारिक उन्मुख शिक्षण में बदलना था। यह सेमिनार आईसीएफएआई बिजनेस स्कूल, गुरुग्राम के सहयोग से आयोजित किया गया था। जिसमें मुख्य वक्ता आईबीएस के पूर्व एसोसिएट डीन डॉ विक्रम शर्मा थे। जिनका प्रिंसीपल डॉ हरीश कुमारी ने स्वागत किया और सेमिनार से विद्यार्थियों को होने वाले लाभ पर आभार प्रकट किया।
टीचर्स डे के अवसर पर विद्यार्थियों ने अध्यापकों के लिए एक हस्ताक्षर बोर्ड भी बनाया। इस बोर्ड पर सभी विद्यार्थियों ने अपने अपने विचार रखकर अध्यापकों को सम्मान दिया। विद्यार्थियों द्वारा लिखे गये अध्यापकों के लिए संदेश प्रभावशाली थे। जिसे कॉलेज की प्रिंसिपल डॉ हरीश कुमारी सहित सभी अध्यापकों ने पढ़ा और अध्यापकों के लिए लिखी सम्मानजनक टिप्पणियों की सराहना की तथा सभी को प्रमाण पत्र देकर मंच पर सम्मानित किया।
इस अवसर पर कॉलेज की प्रिंसिपल डॉ हरीश कुमारी ने कहा कि अध्यापक और विद्यार्थी का रिश्ता सबसे अच्छा होता है। एक विद्यार्थी जिसका कत्र्तत्व होता है कि वह अपने अध्यापको को सम्मान दें और उनके द्वारा कही हुई बातों को अमल में लाए। जबकि अध्यापक का कर्तव्य होता है कि वह अपने द्वारा दी जाने वाली शिक्षा को विद्यार्थियों को सही मायने में समझाने का प्रयास करें, वे ऐसी शिक्षा उन्हें दें जिससे उनका जीवन उज्जवल हो। इस दौरान उन्होंने कहा कि सेमिनार बहुत ही ज्ञान अर्जित करने वाला था बॉडी लैंग्वेज व इंटर पर्सनल स्किल्स विद्यार्थियों के लिए सफलता की सीढ़ी है। उन्होंने कहा कि यह सेमिनार अवश्य ही विद्यार्थियों के लिए लाभदायक सिद्ध होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *