मारपीट व दुर्व्यवहार किये जाने पर पार्टी द्वारा साथ ना दिए जाने से नीना तिवारी ने दिखाए बगावती तेवर

चंडीगढ़, 22 जुलाई। चंडीगढ़ भाजपा की प्रदेश उपाध्यक्ष नीना तिवारी एवं सेक्टर 40-बी स्थित हनुमंत धाम मंदिर की संचालक संस्था महिला सुंदरकांड सभा की अध्यक्ष के साथ मंदिर परिसर में ही बीते दिनों हुई मारपीट व धक्केशाही पर भाजपा के वरिष्ठ नेताओं द्वारा साथ न देने पर नीना तिवारी ने आज एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में भाजपा के खिलाफ बगावती तेवर दिखते हुए पार्टी के बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ के नारे व महिला सशक्तिकरण अभियान पर सवाल उठायें।
नीना तिवारी ने बताया कि बीती 14 जुलाई को सुबह सात बजे हनुमन्त धाम सेक्टर 40-बी के परिसर में ताइक्वांडो कोच विनोद कुमार व उसके साथियों द्वारा उन पर तथा मंदिर के अन्य सदस्यों पर जानलेवा हमला किया गया। उसने वहां पर चल रहे कंप्यूटर सेंटर की स्टूडेंट्स को भी कथित तौर पर जान से मारने की धमकी दी गई।
नीना तिवारी ने आरोप लगाते हुए पत्रकारों को बतााय कि विनोद कुमार का उद्देश्य मंदिर पर कब्जा करना है। वह उस दिन अपने साथ बाउंसर, हथियार व वहां पर लगे हुए तालों को तोड़ने के लिए औजार, कटर आदि सामान लेकर आया था। नीना तिवारी ने आरोप लगाया कि विनोद के साथ-साथ मंदिर परिसर में चल रहे ताइक्वांडो सेंटर के बच्चों के द्वारा भी उन्हें मारा-पीटा गया व उनके कपड़े फाड़े गए तथा उन्हें घसीट कर उस जगह पर फैंका गया जहां पर सीसीटीवी कैमरे की रेंज नहीं जा रही थी। नीना तिवारी के मुताबिक उन्होंने मुश्किल से किसी तरह से अपनी जान बचाई। उसके बाद संस्था से जुड़ीं सभी महिलाएं पुलिस स्टेशन के चक्कर लगाते-लगाते थक गईं लेकिन उनकी कोई सुनवाई नहीं हुई। उन्होंने प्रशासन से मांग की है कि संस्था को इंसाफ दिलवाया जाए। उन्होंने पुलिस को एक वीडियो और ऑडियो भी भेजा है जिसमें कथित तौर पर विनोद कुमार व पुलिस के सारे कारनामे दिखाई दे रहे हैं परंतु फिर भी कोई कार्रवाई नहीं हुई। उन्होंने कहा कि पुलिस शायद किसी बड़ी वारदात का इंतजार कर रही है।
नीना तिवारी ने यह भी आरोप लगाया कि बीती 14 जुलाई से विनोद कुमार तथा उसके स्टूडेंट्स मंदिर परिसर में सारा-सारा दिन घूमते रहते हैं तथा उन्होंने मंदिर पर पूर्ण रूप से कब्जा किया हुआ है। उन्होंने कहा कि रात को पूरे शहर के मंदिर बंद हो जाते हैं, लेकिन हनुमंत धाम ही एक ऐसा मंदिर है जहां पर ताइक्वांडो के स्टूडेंट्स कब्जा करने हेतु सारी रात मंदिर में ही रहते व सोते हैं। नीना तिवारी ने यह भी आरोप लगाया कि जब पुलिस को इस बारे में अवगत कराया गया तो उन्होंने हाथ खड़े कर दिए व साफ कहा कि स्टूडेंट्स अगर वहां सोना चाहते हैं तो सोएं, हम कुछ नहीं कर सकते।
मंदिर की प्रधान ने कहा कि अगर मंदिर में कोई चोरी हो जाती है या कोई वारदात हो जाती है तो इसकी सारी जिम्मेदारी इलाका पुलिस की होगी।
इस मामले में जब विनोद कुमार से उनका पक्ष जानने की कोशिश की गई तो उन से संपर्क नहीं हो सका। इसलिए उन पर लगाए गए आरोप कहा तक सही से इस के बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *