चंडीगढ़ ट्रेडर्स एसोसिएशन ने चंडीगढ़ प्रशासक को कोरोना महामारी से हुई बदहाली को लेकर लिखा पत्र

चंडीगढ़, 22 जुलाई। चंडीगढ़ ट्रेडर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष कमलजीत सिंह पंछी एवं मुख्य सचिव एलसी अरोड़ा ने शहर के व्यापारियों की वास्तविक समस्याओं को लेकर चंडीगढ़ के प्रशासक को एक पत्र लिखकर कोरोना महामारी में व्यापारियों की बदहाली को सामने रखने का बड़ा प्रयास किया है।
उन्होंने पत्र में लिखा है कि लंबे समय से ट्रेडर्स के सामने आने वाली कुछ व्यावसायिक समस्याओं के बारे में अवगत करना चाहते हैं। इस सिटी ब्यूटीफुल के व्यापारियों ने हमेशा सभी राष्ट्रीय और स्थानीय मुद्दों पर चंडीगढ़ प्रशासन का समर्थन किया है। चंडीगढ़ ट्रेडर्स एसोसिएशन, सेक्टर 17, आपका ध्यान कोरोना महामारी के प्रकोप की ओर आकर्षित करना चाहते हैं, जिसमें व्यापारियों को आजीविका की एक बहुत बड़ी चुनौती का सामना करना पड़ता है क्योंकि व्यवसाय बंद रहता है और किराए, वेतन, बिजली, संपत्ति कर आदि कई देनदारियां होती हैं। जबकि पिछले डेढ़ साल से कोरोना महामारी का दंश झेल रहे व्यापारियों को एक बहुत बड़ी समस्या का सामना करना पड़ता है। जब सीजन, त्योहार, विवाह शादी या काम के दिन आते है, तो बहुत से बाहरी लोग बाहर से आ कर मेला, सेल, आदि के नाम पर लोगों को धोखा दे कर हल्की फुल्की चीजें बेच कर चले जाते है। जिससे हम सभी दुकानदारों का बहुत नुकसान होता है। सरकार को भी कोई राजस्व नहीं मिलता। हम सभी व्यापारी साल भर अपनी दुकानों का किराया भी देते हैं, स्टॉक रखते हैं, और जीएसटी से लेकर सरकार तक की पूरी व्यवस्था का पालन भी करते हैं।
हम समझते हैं कि प्रशासन चंडीगढ़ में प्रदर्शनी आदि की अनुमति देने की योजना बना रहा है, जिसकी अनुमति नहीं दी जानी चाहिए क्योंकि यह हमारे व्यवसाय को और प्रभावित करेगा। प्रशासन जानता है कि हम कोवीड 19 के आघात से बाहर नहीं आए हैं, व्यवसाय पूरी तरह से पुनर्जीवित नहीं हुआ है और इस तरह के कदम से स्थानीय बिक्री बर्बाद हो जाएगी। हमरा सुझाव हैं कि आपका अच्छा कार्यालय व्यापारियों द्वारा आम सहमति पर कॉल करे और उसके अनुसार कार्य करें। जिससे स्थानीय व्यापारियों के हितों की रक्षा हो सके।
आशा है कि आप अपनी योजना पर फिर से गौर करेंगे और आप से उम्मीद करते है कि व्यापारियों के हितों का ध्यान रखते हुए, हमारी समस्याओं का हल आप ही निकालेगें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *