यूटी कर्मचारियों की कन्वेंशन 20 दिसंबर को, कोऑर्डिनेशन कमेटी की कोर कमेटी ने मीटिंग में लिया फैसला

यूटी कर्मचारियों की कन्वेंशन 20 दिसंबर को, कोऑर्डिनेशन कमेटी की कोर कमेटी ने मीटिंग में लिया फैसला
यूटी कर्मचारियों की कन्वेंशन 20 दिसंबर को, कोऑर्डिनेशन कमेटी की कोर कमेटी ने मीटिंग में लिया फैसला

चंडीगढ़, 30 नवंबर। बीती शाम कोऑर्डिनेशन कमेटी ऑफ गवर्नमेंट एंड एमसी एंप्लॉयज एंड वर्कर्स यूटी चंडीगढ़ की कोर कमेटी की मीटिंग कमेटी के प्रधान सतिंदर सिंह की अध्यक्षता में वाटर वर्क्स सेक्टर 32 में हुई। मीटिंग में 10 अगस्त को सचिव प्रसोनल द्वारा कोआर्डिनेशन कमेटी के प्रतिनिधियों के साथ हुए बैठक के नतीजों पर विचार चर्चा की तथा प्रशासन के साथ दूसरे दौर की होने वाली मीटिंग के मुद्दो पर भी विस्तृत चर्चा की गई।मीटिंग में फैसला लिया गया कि अगर प्रशासन दूसरे दौर की बातचीत जल्द शुरू नहीं करता तो 20 दिसंबर को यूटी कर्मचारियों की कन्वेंशन की जाएगी जिसमे अगला एक्शन लिया जाएगा।
बैठक में आउटसोर्स कर्मियों को समान काम के लिए समान वेतन देने, पेमेंट ऑफ बोनस एक्ट को लागू करने, रिक्त पदों को शीघ्र भरने, डेलीवेज कर्मियों को 01-01-2016 से छठे वेतन आयोग का लाभ देने, आउटसोर्स कर्मियों के आर्थिक शोषण को रोकने, डी.सी. दरों में रह गई त्रुटियों को दूर करने, डीसी रेट्स पर काम करने वाले डेली वेज वर्करों को बेसिक प्लस डीए देने आदि मांगों पर विस्तृत चर्चा के बाद निर्णय लिया गया कि अगर प्रशासन कोऑर्डिनेशन कमेटी के साथ दूसरे दौर की बात चीत शुरु नही करता तो 20 दिसंबर की कन्वेंशन में सख्त फैसले लिए जाएंगे।
बता दे कि सेक्रेटरी पर्ससनल हरगुनजीत कौर ने 10 अगस्त की मीटिंग मे भरोसा दिया था कि सभी विभागों के प्रमुखों को बुलाकर कोआर्डिनेशन कमेटी आफ गर्वनमैंट एंड एम सी इम्पलाईज एंड वर्कस यूटी चंडीगढ़ के प्रतिनिधियों के साथ विस्तृत बैठक की जाएगी।
अतः कर्मचारियों की मांगों पर प्रशासन के सकारात्मक रुख को देखते हुए 11 अगस्त को होने वाला यूटी सचिवालय के घेराव को 30 दिन के लिए स्थगित कर दिया था किंतु प्रशासन ने कोई मीटिंग नहीं बुलाई । इस बात का मुलाजिमों मे रोष है। कोऑर्डिनेशन कमेटी समझती है कि प्रशासन प्रमुख मांगो को लागू नही कर रहा जो कानूनी तौर पर जायज है।मुलाजिम इस धकेशाही का जोरदार विरोध करते रहेंगे। कोऑर्डिनेशन कमेटी ने मांग की कि प्रशासन तुरंत बात चीत का रास्ता खोल मसले हल करे और मुलाजिमों को सड़कों पर उतरने के लिए मजबूर न करें।
बैठक में कोआर्डिनेशन कमेटी ऑफ गर्वनमैंट एंड एम सी इम्पलाईज एंड वर्कस यू टी चंडीगढ़ के प्रधान सतिंदर सिंह, महासचिव राकेश कुमार, सीवरेज कर्मचारी यूनियन के महासचिव नरेश कुमार, एम.सी. हार्टिकलर कर्मचारी संघ के अध्यक्ष अनिल कुमार, संयोजक गुरचरण सिंह, वाटर सप्लाई वर्कर्स यूनियन के अध्यक्ष राजिंदर कुमार, महासचिव जगमोहन सिंह, चेयरमैन निर्मल सिंह और सुरिंदर शर्मा, इलेक्ट्रिकल वर्कर्स यूनियन के अध्यक्ष किशोरी लाल, चेयरमैन वरिन्द्र बिस्ट,  स्ट्रीट लाइट बिजली कर्मचारी और वर्कर्स यूनियन के महासचिव दलजीत सिंहए अध्यक्ष यूनाइटेड फ्रंट पब्लिक हेल्थ इंप्लाइज यूनियन सीतल सिंह, महासचिव चरणजीत सिंह, एमसी रोड वर्कर्स यूनियन के अध्यक्ष संतोष सिंह, इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट इंप्लाइज एंड वर्कर्स यूनियन के अध्यक्ष वीर सिंह, यूटी रोड वर्कर्स यूनियन के रोहित कुमार, राजू, तेजिंदर सिंह, पैक कर्मचारी यूनियन उप अध्यक्ष सुखवंत सिंह, खेल विभाग कंन्ट्रैक्ट वर्कर्स यूनियन के अध्यक्ष लाल सिंह, महासचिव आरके तिवारी, चेयरमैन मामराज, , चंडीगढ़ फाॅरेस्ट वर्कर्स यूनियन के अध्यक्ष छोटे लाल शामिल थे। चंडीगढ़  सीवरेज से राहुल वैध, जन सुविधा शौचालय सफाई सेवक यूनियन के अध्यक्ष अशोक बेनीवाल और सुरेश कुमार, चंडीगढ़ एमसी टायलेट वर्कर्स यूनियन और चंडीगढ़ सफाई वर्कर्स यूनियन से  विक्रम और मुर्गेशन शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *