अस्पतालों के ओवर चार्जिंग व धोखधड़ी के खिलाफ तुरंत कड़ा एक्शन ले प्रशासन: चंद्र मुखी शर्मा

चंडीगढ़, 28 मई । आम आदमी पार्टी के चुनाव प्रभारी चंदर मुखी शर्मा ने पंजाब के राज्यपाल एवं यू.टी. प्रशासक वी.पी. सिंह बदनौर को पत्र लिख कर कोविड-19 महामारी के दौरान निजी अस्पतालों द्वारा मरीजों के साथ धोखाधड़ी/ओवर चार्जिंग को लेकर कार्रवाई की मांग की है।
चंद्रमुखी शर्मा ने जारी एक बयान में कहा है कि पिछले 14 महीनों में कोविड-19 महामारी ने पूरे देश को प्रभावित किया है। इलाज के नाम पर चंडीगढ़ के निजी अस्पतालों द्वारा मरीजों और उनके परिजनों से ठगी करने से कोविड संक्रमण वालों की दुश्वारियां दोगुनी हो गई हैं।
इससे भी ज्यादा चौंकाने वाली बात यह है कि मरीजों और उनके परिवारों के साथ यह धोखाधड़ी चंडीगढ़ में उन संबंधित अधिकारियों की नाक के नीचे हो रही है,जो इन पर अंकुश लगाने वाले हैं। रोजाना आ रही मीडिया रिपोर्ट्स , खुले तौर पर संकेत देती हैं कि निजी अस्पताल अधिक शुल्क ले रहे हैं और मरीजों को धोखा दे रहे हैं और अस्पताल में भर्ती मरीजों के बिल कई लाख रुपये तक बन रहे हैं।
चंडीगढ़ प्रशासन इसकी अनुमति कैसे दे सकता है? यह ओवर चार्जिंग नहीं बल्कि धोखा और शोषण है। जब सब लोगों का उत्पीड़न और शोषण हो रहा है तो प्रशासन और उसके अधिकारी अनदेखी क्यों कर रहे हैं ?
आम आदमी पार्टी (आप) की मांग है कि ऐसे मामलों में निजी अस्पतालों और उनके प्रबंधन पर भारतीय दंड संहिता (आईपीसी), आपदा प्रबंधन अधिनियम और औषधि नियंत्रण अधिनियम के विभिन्न प्रावधानों के तहत मामला दर्ज किया जाना चाहिए। निजी अस्पतालों को ऐसे भयावह समय के दौरान इन अवैध गतिविधियों में शामिल होने से रोकने के लिए स्पष्ट निर्देश तुरंत जारी किये जाना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *