प्रदेश में खेलों का वातावरण तैयार करने के लिए प्रत्येक गांव में 2-2 युवा क्लबों का होगा गठन: राज्यपाल

चण्डीगढ़ 9 जनवरी। हरियाणा के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने कहा कि राज्य में बच्चों का खेलों के प्रति और अधिक रूझान पैदा करने के उद्देश्य से 297 खेल नर्सरियां चलाई जा रही है। इसके अलावा प्रदेश में खेलों का वातावरण तैयार करने के लिए प्रत्येक गांव में 2-2 युवा क्लबों का गठन का फैसला लिया है और अब तक पांच हजार गांव में युवा क्लबों का गठन किया जा चुका है।
दत्तात्रेय आज पंचकूला के सेक्टर 3 स्थित ताउ देवी लाल स्पोर्ट्स कंपलैक्स में अश्विनी गुप्ता ऑल इंडिया- सब जूनियर रैंकिंग बैडमिंटन टूर्नामेंट के समापन अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष एवं स्पोर्ट्स प्रमोशन सोसाइटी के अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता तथा पंचकूला के उपायुक्त महावीर कौशिक भी उपस्थित थे।
दत्तात्रेय ने कहा कि कोविड-19 के कारण अधिकतर नर्सरी ऑनलाईन भी चलाई गई ताकि बच्चों को खेलों से जोड़ा रखा जा सके। उन्होंने कहा कि हरियाणा देश की जनसंख्या का मात्र दो प्रतिशत होते हुए भी खेलों का हब बना है और भारत का नाम रोशन किया है।
राज्यपाल ने स्पोर्टस प्रमोशन सोसायटी के माध्यम से राष्ट्रीय स्तर का प्रथम अश्विनी गुप्ता ऑल इंडिया- सब जूनियर रैंकिंग बैडमिंटन टूर्नामेंट के आयोजन के लिए श्री ज्ञानचन्द गुप्ता को बधाई दी। उन्होंने कहा कि यह टूर्नामैंट ज्ञान चन्द गुप्ता के स्वर्गीय बेटे अश्विनी गुप्ता की याद में करवाया गया।  अश्विनी गुप्ता स्कूल स्तर के नैशनल लेवल के बैडमिंटन खिलाड़ी थे। एक हादसे में उनके चले जाने के बाद से ज्ञान चन्द गुप्ता ने उनकी याद में खेल को बढ़ावा देने के लिए ट्रस्ट बनाया और 2006 से लगातार कब्बड्डी, बैडमिंटन व अन्य खेल टूर्नामैंट करवा रहे हैं। उन्होंने कहा कि इनका उद्देश्य है कि खेलों को बढ़ावा दिया जाए ताकि युवाओं को नशे आदि से दूर रहें और इसके सार्थक परिणाम भी सामने आए हैं।
उन्होंने कहा कि खेल एक ऐसा क्षेत्र है जिससे व्यक्ति के चरित्र का निर्माण होता है साथ ही व्यक्ति स्वयं को स्वस्थ रख सकता है। उन्होंने कहा कि स्वस्थ शरीर में स्वस्थ दिमाग का वास होता है। स्वस्थ दिमाग होगा तो युवा अपने करियर को हर क्षेत्र में स्वर्णिम बना पाएंगे। इसलिए जरूरी है कि सभी युवा खेलों से जुडे़। उन्होंने कहा कि आज खेलों में नाम और प्रतिष्ठा के  साथ-साथ अच्छा करियर भी है।
टूर्नामेंट में भाग लेने वाले खिलाड़ियों को शुभकामनाएं देते हुए राज्यपाल ने कहा कि उन्हें आशा है कि इस टूर्नामैंट से अच्छे खिलाड़ी निकलेंगे जो अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर पहुंचेंगे। राज्यपाल ने कहा कि बैडमिंटन खेल पिछले दो दशक से देश में लोकप्रिय हुआ है। विशेष रूप से इस खेल में लड़कियों ने सायना नेहवाल, पी.वी. सिन्धु और अन्य खिलाड़ियों ने विश्वस्तर पर देश का प्रचम फहराया है। इस टूर्नामैंट में भी कई अन्तर्राष्ट्रीय जुनियर खिलाड़ियों ने भी भाग लिया।
उन्होंने कहा कि केन्द्र व हरियाणा सरकार द्वारा खेल प्रतिभाएं तराशने के लिए अनेक कार्यक्रम चलाए गए हैं जिससे खिलाड़ियो को प्रतिभा दिखाने का एक मौका मिला है। हरियाणा की नई खेल नीति को पूरे देश में सराहा जा रहा है। उन्होंने कहा कि हरियाणा प्रदेश का नाम पहले पारम्परिक व मैदानी खेलों में जाना जाता था अब इन्डोर खेलों में भी प्रदेश के खिलाड़ियों ने अपनी पहचान बनाई। विशेषरूप से सिंगल खेलों व एथलैटिक्स में हरियाणा के खिलाड़ियों ने अपने आप को तैयार किया। विभिन्न स्तरों पर न केवल प्रदेश का बल्कि देश का नाम रोशन किया है। युवाओं ने आज खेल को कैरियर के रूप में अपनाया है।
इस अवसर पर संबोधित करते हुए हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष तथा स्वोर्टस प्रमोशन सोसायटी के अध्यक्ष श्री ज्ञानचंद गुप्ता ने कहा कि इस राष्ट्रीय स्तर के र्टर्नामेंट में खिलाड़ियों ने जिस प्रकार का प्रदर्शन किया है वह सराहनीय है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व में प्रदेश सरकार द्वारा खेलों और खिलाड़ियों के विकास के लिए अनेक नई योजनाएं शुरू की गई हैं। खिलाड़ियों को खेलों के प्रति प्रोत्साहित करने के लिए उन्हें सभी तरह की आधुनिक सुविधाएं और आधारभूत ढांचा उपलब्ध करवाने के साथ-साथ नकद पुरस्कारों की राशि में भी कई गुना वृद्धि की गई है। अब ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतने वाले हरियाणा के खिलाड़ी को 6 करोड़, रजत पदक विजेता को 4 करोड़ और कांस्य पदक विजेता को  2.50 करोड़ रूपए की राशि प्रदान की जाती है। उन्होंने पंचकूला को फरवरी में आयोजित होने वाले खेलो इंडिया यूथ गेम्ज की मेजबानी का अवसर प्रदान करने के लिए मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल का आभार प्रकट किया।
गुप्ता ने कहा कि इस बैडमिंटन टूर्नामेंट में देश के 30 राज्यों व केन्द्र शासित प्रदेशों से कुल 1500 खिलाड़ियों ने भाग लिया। उन्होंने कहा कि स्पोर्टस प्रमोशन सोसायटी पिछले 10 वर्षों से लगातार जिला स्तरीय व प्रदेश स्तरीय बैडमिंटन टूर्नामेंट का आयोजन करवाती आ रही है। उन्होंने कहा कि इस दिशा में एक और कदम बढाते हुए सोसायटी द्वारा पहली बार पंचकूला में राष्ट्रीय स्तर के बैडमिंटन टूर्नामेंट का आयोजन किया गया जिसके लिए वे सोसायटी के सभी पदाधिकारियों को बधाई देते हैं। इस अवसर पर उन्हांेने देश भर से आए खिलाड़ियों के कोचिज व अभिभावकों को शुभकामनाएं दी और आशा व्यक्त की कि वे यहां से सुनहरी यादें लेकर जाएंगे।
इस अवसर पर राज्यपाल श्री बंडारू दत्तात्रेय तथा हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञानचंद गुप्ता ने विजेता खिलाड़ियों तथा विजेता टीमों को 6 लाख रूपए के नकद पुरस्कार तथा ट्रॉफी देकर सम्मानित किया।
प्रतियोगिताओं में गर्लस डबल अंडर 17 में आंध्र प्रदेश की नव्या कंडेरी तथा तमिलनाडू की रक्षिता स्री एस की टीम ने ने प्रथम जबकि हरियाणा की पलक अरोड़ा और उन्नती हुडा ने दूसरा स्थान हासिल किया। इसी प्रकार मिक्स डबल प्रतियोगिता में हरियाणा के मयंक राणा और पलक अरोड़ा ने प्रथम स्थान प्राप्त किया तथा आंध्र प्रदेश के भार्गव राम व उड़ीसा के प्रगति परीदा ने दूसरा स्थान प्राप्त किया। गर्लस सिंगल अंडर 17 में तमिल नाडू की रक्षिता स्री एस ने प्रथम तथा गजरात की एशानी तिवारी ने दूसरा स्थान प्राप्त किया। इसी प्रकार ब्वायस सिंगल अंडर 17 में राजस्थान के संस्कार सारस्वत ने प्रथम जबकि आंध्र प्रदेश के नुमायर शेक दूसरे स्थान पर रहे। ब्वायस डबल अंडर 17 में उत्तर प्रदेश के दिव्यम अरोड़ा व हरियाणा के मयंक राणा की टीम ने प्रथम तथा निकोलस नथन राज  व तुषार सुरवीर की टीम ने दूसरा स्थान प्राप्त किया।
गर्लस डबल अंडर 15 में हरियाणा की मेधावी नागर और बरूनी परशवाल की टीम ने प्रथम स्थान हासिल किया जबकि तेलंगाना की तनवी रेड्डी अंदलूरी और आंध्र प्रदेश की दुर्गा ईशा कंररापू की टीम ने दूसरा स्थान अर्जित किया। ब्वायस डबल अंडर 15 में केरला के बजौर्न जैसर्न और आथिश स्रीनिवास पी.वी की टीम ने प्रथम स्थान जबकि उत्तर प्रदेश के सनरेख कुमार चैरसिया और कपिल सलौनिया की टीम ने दूसरा स्थान प्राप्त किया। मिक्स डबल अंडर 15 में उत्तराखण्ड के सुरयक्ष रावत और आन्या बिष्ट की टीम ने प्रथम व आसाम की रितौम हाउबूरा और भविश्या चंगमई की टीम ने दूसरा स्थान प्राप्त किया। गर्लस सिंगल्स अंडर 15 में महाराष्ट्र की नईशा कौर भाटोए ने प्रथम स्थान अर्जित किया जबकि दिल्ली की अनवेशा गौड़ा ने दूसरा स्थान प्राप्त किया। ब्वायस सिंगल्स अंडर 15 में दिल्ली के वंश देव ने प्रथम तथा देवांग तोमर ने दूसरा स्थान अर्जित किया।
इस अवसर पर पुलिस आयुक्त सौरभ सिंह, एसडीएम ऋचा रज्ञठी, स्पोर्टस प्रमोशन सोसायटी के प्रधान डीपी सोनी, महासचिव एनडी शर्मा, बीजेपी के जिला अध्यक्ष अजय शर्मा, बरवाला मंडल अध्यक्ष गौतम राणा, पार्षद जय कौशिक, सुरेश वर्मा तथा अन्य गणमान्य व्यक्ति भी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *