मेयर के चुनाव में चंडीगढ़ में पहले कभी नहीं दिखी ऐसी ओछी राजनीति: फॉस्वेक

चंडीगढ़, 9 जनवरी।  फॉस्वेक प्रवक्ता एवं सेक्टर 38 वैस्ट आरडब्ल्यूए के अध्यक्ष प्रवक्ता पंकज गुप्ता मुख्य ने रविवार को जारी एक बयान में कहा है कि जिस प्रकार सभी राजनैतिक दलों ने नैतिक मूल्यों को ताक पर रखकर मेयर पद हासिल करने के लिए ओछे हथकंडे अपनाएं, यह अत्यंत चिंताजनक विषय है। राजनैतिक दलों द्वारा दूसरे दल के पार्षदों को पद या धन के लोभ में अपने दल में मिलाने का प्रयास, कांग्रेस पार्टी द्वारा मेयर चुनाव में सम्मिलित ना होना, आम आदमी पार्टी के एक पार्षद द्वारा वरिष्ठ उप-महापौर के चुनाव में क्रॉस वोटिंग, बी.जे.पी. के पार्षदों द्वारा आम आदमी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष प्रेम गर्ग से दुर्व्यवहार, हरप्रीत कौर बबला का चुनाव जीतते ही कांग्रेस छोड़कर बी.जे.पी. में शामिल होना इत्यादि ऐसे कई मुद्दे हैं जिन्होंने लोकतांत्रिक व्यवस्था को शर्मसार किया है।
साथ ही जिस प्रकार रिटर्निंग ऑफिसर ने बैलेट पेपर थोड़ा फटा हुआ होने का बहाना लेकर आम आदमी पार्टी का एक वोट निरस्त किया, यह नौकरशाही पर राजनीतिक प्रभाव की कलई खोलता है। अल्पसंख्यक पार्टी के पार्षद का मेयर बन जाना कहां तक न्यायसंगत है और नगर निगम के चुनावों में दल-बदल कानून का लागू ना होना कहां तक जायज है, ये भी न्यायिक व्यवस्था के लिए बड़े प्रश्न हैं। लोगों का विश्वास लोकतांत्रिक व्यवस्था पर बना रहे और ओछी राजनीति चंडीगढ़ के विकास पर हावी ना हो, इसलिए नगर निगम के चुनावों को लेकर कड़े कदम उठाए जाने की आवश्यकता है। जिस प्रकार जोड़-तोड़ करके चंडीगढ़ का मेयर बनाया गया उससे चंडीगढ़वासियों में भारी रोष है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *