मेयर पद के लिए यदि किसी राजनैतिक दल ने की खरीद-फरोख्त तो होगी कानूनी कार्यवाही: फॉस्वेक

चंडीगढ़, 29 दिसंबर। फेडरेशन ऑफ सेक्टर्स वेलफेयर एसोसिएशन ऑफ चंडीगढ़ के पदाधिकारियों के आप भी पढ़े विचार फॉस्वेक के चेयरमैन बलजिंदर सिंह बिट्टू ने कहा कि अगर किसी भी राजनैतिक दल द्वारा यदि नगर निगम में अपना मेयर बनाने के लिए हॉर्स ट्रेडिंग की गई तो इसे फाॅस्वेक बर्दाश्त नहीं करेगी। वेलफेयर बॉडीज की अग्रणी संस्था होने के नाते फाॅस्वेक चंडीगढ़ वासियों के सामाजिक हितों की रक्षा करने के लिए भी वचनबद्ध है। पार्षदों की खरीद-फरोख्त करके यदि मेयर बनाया गया तो इसके खिलाफ फाॅस्वेक न केवल निर्वाचन आयोग को लिखेगी बल्कि उच्च न्यायालय का भी रुख कर सकती है। दल-बदल कानून नगर निगम के चुनावों में भी लागू हो, इसके लिए भी प्रयास किए जाएंगे।
फॉस्वेक के महासचिव जे.एस. गोगिया ने कहा कि फाॅस्वेक ने समय-समय पर चंडीगढ़ वासियों से अपील की कि वे नगर निगम के चुनावों में राजनैतिक दलों के चुनावी वादों को दरकिनार करते हुए योग्य उम्मीदवारों को ही वोट डालें और मतदाताओं ने किया भी ऐसा ही। अब यदि राजनैतिक दल अपना मेयर बनाने के लिए दूसरी पार्टी के काउंसलर्स को खरीदने की ओछी राजनीति करेंगे तो चंडीगढ़ के लोग इसे बिल्कुल बर्दाश्त नहीं करेंगे। भले ही नगर निगम के चुनावों में दल-बदल कानून लागू ना हो परंतु काउंसलर्स को खरीदने वाली राजनैतिक पार्टी और खरीदे गए काउंसलर्स को आने वाले समय में इसका भारी खामियाजा चुकाना होगा।
फाॅस्वेक के मुख्य प्रवक्ता पंकज गुप्ता ने कहा कि मेयर पद के लिए जिस प्रकार सभी राजनैतिक दलों द्वारा पार्षदों की खरीद-फरोख्त की जा रही है, वह न केवल चिंतनीय है बल्कि निंदनीय भी है। इस बार चुनावों में चंडीगढ़ के लोगों ने पार्टी-लाईन से ऊपर उठकर पार्षदों को चुना है। अब ऐसे में यदि कोई पार्षद धन के प्रलोभन में या किसी अन्य दबाव में दूसरी पार्टी के उम्मीदवार को मेयर बनाने के लिए अपना वोट देता है तो यह उस वार्ड के लोगों के साथ विश्वासघात होगा। फाॅस्वेक ने सभी रेजिडेंट्स वेल्फेयर एसोसिएशनस को आह्वान किया है कि ऐसे में उस वार्ड की सभी आरडब्ल्यूएज पार्षद को खरीदने वाली पार्टी और उस बिकाऊ पार्षद का सामाजिक बहिष्कार करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.